बैठक कक्ष / मेहमान कक्ष (ड्राइंगरूम )  :  बैठक का कमरा हमेशा घर के उत्तर -पूर्व भाग में बनवाना चाहिए | उत्तर या पूर्व के भाग में भी बैठक अथवा मेहमान कक्ष बनवा सकते हैं | बैठक कक्ष या मेहमान कक्ष में फर्नीचर चोकोर या आयताकार होना चाहिए तथा पश्चिमी या दक्षिणी भाग में स्तिथ होना चाहिए | जिससे बैठने वाले का मुंह  पूर्व या उत्तर में होना चाहिए , ये अति शुभ रहता है | मेहमान कक्ष में हरा या नीला या सफेद रंग करना चाहिए | बैठक कक्ष का द्वार उत्तर दिशा में अति शुभ रहता है मगर पूर्व दिशा में भी द्वार रखा जा सकता है | परन्तु अन्य दिशा में बैठक कक्ष का द्वार नहीं रखना चाहिए | बैठक कक्ष में टेलीविजन  रखना हो तो उसको अग्नि कोण या दक्षिण की दिशा में रखना चाहिए | रूम कूलर या वातानुकूलित यन्त्र को कक्ष की पश्चिमी  या पश्चिमी – उत्तरी दीवार या भाग में लगाना चाहिए | बैठक कक्ष की सामने की दीवार खाली नहीं रखनी चाहिए उस पर कोई अच्छी सी प्राकृतिक द्रश्य आदि की तस्वीर लगानी चाहिए | बैठक कक्ष में बंद घडी नहीं लगानी चाहिए  तथा घडी को दक्षिणी दीवार में नहीं लगानी चाहिए | बैठक कक्ष का ढलान उत्तर-पूर्व दिशा की ओर रखना चाहिए |
.

Google+ Comments