एकादशी व्रत

एकादशी व्रत

एकादशी व्रत हिन्दू धर्म के अनुThe Vishnuसार बहुत ही शुभ व्रत माना जाता है। एकादशी शब्द संस्कृत भाषा से लिया गया है जिसका अर्थ है ‘ग्यारह’ । प्रत्येक महीने में दो एकादशी होती हैं जो कि शुक्ल पक्ष एवं कृष्ण पक्ष के दौरान आती हैं ।

एकादशी व्रत बहुत ही सख्त होता है। यह एकादशी तिथि से पहले सूर्यास्त से लेकर एकादशी से अगले सूर्योदय तक रखा जाता है यह करीब 48 घंटे का व्रत होता है।

एकादशी का महत्व

हिन्दू पुराणों के अनुसार एकादशी को ‘हरी वसर’ एवं ‘हरी दिन’ भी कहा जाता है। एकादशी वैष्णव एवं गैर-वैष्णव दोनों समुदाय द्वारा मनाया जाता है। एकादशी के महत्व को स्कन्द पुराण एवं पदम् पुराण में भी बताया गया है। जो भक्त व्रत रखते हैं वो इस दिन , अन्न ,गेहूं, मसाले, नमक एवं सब्जियां नहीं खाते हैं । श्रद्धालू इस व्रत की तैयारी एकादशी से एक दिन पहले दशमी से ही प्रारंभ करते हैं। श्रद्धालू सुबह जल्दी उठकर पवित्र जल से स्नान करते हैं एवं इस दिन बिना नमक का खाना खाते हैं ।

एकादशी व्रत के नियम

ताजा फल, सूखे मेवे, सब्जी एवं दूध से बनी मिठाई ही इस दिन खाई जाती है एवं कुछ राज्यों में केवल साबुदाना, मूंगफली एवं आलू का ही भोजन इस दिन किया जाता है। दाल एवं शहद दशमी के दिन भी नहीं खाया जाता। इस दिन कुछ लोग पानी भी नहीं पीते, इसलिए इसे निर्जला एकादशी भी कहा जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। कुछ श्रद्धालू रात में एकादशी व्रत की कथा, कहानी एवं मंत्र पढ़ते हैं।

एकादशी के अगले दिन को द्वादशी कहा जाता है । यह दशमी या अन्य दिनों की तरह दिन आम दिन होता है। सुबह जल्दी नहाकर, दीऐ जलाकर भगवान विष्णु की पूजा की जाती है एवं भोजन खाकर व्रत पूर्ण किया जाता है ।

एक वर्ष के अंदर २४ एकादशी पड़ती हैं , तथा कभी अधिक मास होने पर २६ एकादशी पड़ती हैं , जो निम्न प्रकार से दी हुई हैं

  1. षट्तिला एकादशी
  2. जया एकादशी
  3. विजया एकादशी
  4. अमलिका एकादशी
  5. पाप मोचिनी एकादशी
  6. कामदा एकादशी
  7. वरुथनी एकादशी
  8. मोहिनी एकादशी
  9. अपरा एकादशी
  10. पद्मा एकादशी
  11. परमा एकादशी — अधिक मास एकादशी
  12. निर्जला एकादशी
  13. योगिनी एकादशी
  14. देव शयनी एकादशी
  15. कामिका एकादशी
  16. श्रवण पुत्रदा एकादशी
  17. अजा एकादशी
  18. पार्श्व एकादशी
  19. इंदिरा एकादशी
  20. पापांकुश एकादशी
  21. रामा एकादशी
  22. देव उठनी एकादशी
  23. उत्पन्न एकादशी
  24. मोक्षदा एकादशी
  25. पद्मिनी एकादशी  — अधिक मास  एकादशी
  26. जल झूलनी एकादशी