पारसी धर्म

पारसी धर्म :-   पारसी धर्म अत्यंत प्राचीन धर्मों में से एक धर्म है | इसकी स्थापना आर्यों के इरानी शाखा के एक संत जरथुष्ट्र ने की थी | इस्लाम के आविर्भाव के पूर्व प्राचीन ईरान में जरथुष्ट्र धर्म अथार्त पारसी … Read More

जैन धर्मं

जैन धर्म :-   पुराने समय में तप और मेहनत से ज्ञान प्राप्त करने वालों को श्रमण कहा जाता था। जैन धर्म प्राचीन भारतीय श्रमण परम्परा से ही निकला धर्म है। ऐसे भिक्षु या साधु, जो जैन धर्म के पांच महाव्रतों … Read More

सिख धर्मं

सिख धर्म  :-  सिख धर्म का उदय गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं के साथ होता है। सिख का अर्थ है शिष्य। जो लोग गुरु नानक जी की शिक्षाओं पर चलते गए, वे सिख हो गए। गुरु नानक देव जी … Read More

इस्लाम धर्मं

इस्लाम धर्म :-  धर्म गुरुओं के अनुसार इस्लाम का अर्थ है – अल्लाह को सम्पूर्ण समर्पण | इस्लाम धर्म के अनुसार अल्लाह को सर्वशक्तिमान ईश्वर मानना है सम्पूर्ण विश्व में केवल अल्लाह की सत्ता है एवं सम्पूर्ण विश्व के मालिक … Read More

ईसाई धर्मं

ईसाई धर्म : –  ईसाई धर्म के प्रवर्तक ईसा मसीह (जीसस क्राइस्ट ) थे , जिनका जन्म रोमन     साम्राज्य के गैलिलीप्रान्त के नजस्थ नामक स्थान पर 6 ई.पू.में हुआ था |उनके पिता जोजेफ एक बढाई थे तथा मातामरियम … Read More

बौद्ध धर्मं

बौद्ध धर्म  :-  महात्मा बुद्ध का वास्तविक नाम सिद्धार्थ था । उनका जन्म लुंबिनी, कपिलवस्तु नेपाल  के पास की जगह, में हुआ था । सिद्धार्थ के पिता शुद्धोदन शाक्यों के राजा थे । साहित्य के अनुसार, सिद्धार्थ की माता उनके जन्म के … Read More

हिन्दू धर्मं

हिन्दू धर्म :-   हिन्दू धर्म किसी व्यक्ति विशेष द्वारा स्थापित किया गया नहीं बल्कि सनातन काल  से चला आ रहा धर्म है । यह पुराने समय से चले आ रहे अलग-अलग मतों और आस्थाओं से मिलकर बना है। समय के साथ-साथ … Read More