खाने के मसाले एवं नव ग्रहों में सम्बन्ध तथा प्रभाव

★★ खाने के मसाले एवं नव ग्रहों में सम्बन्ध तथा प्रभाव ★★ 9 मसाले कौन कौन से है और ये किस प्रकार ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते है व इनके पीछे छिपी वैज्ञानिकता क्या है ? 1. नमक ——– सूर्य ग्रह … Read More

ईश्वर / भगवान की प्राप्ति !

ईश्वर / भगवान की प्राप्ति ! ईश्वर अर्थात भगवान को पाना बहुत आसान है मगर उसके लिए आपको बहुत ही ज्ञानी या पूजा पाठ या गुरु की जरूरत नहीं है बस आपको बहुत ही सरल होना जरूरी है , उनके … Read More

महामृत्युंजय मंत्र और लघु मृत्‍युंजय मंत्र के जप का लाभ

महामृत्युंजय मंत्र और लघु मृत्‍युंजय मंत्र के जप का लाभ : महामृत्युंजय मंत्र ऋग्वेद का एक श्लोक है.शिव को मृत्युंजय के रूप में समर्पित ये महान मंत्र ऋग्वेद में पाया जाता है.स्वयं या परिवार में किसी अन्य व्यक्ति के अस्वस्थ … Read More

वास्तु शास्त्र एवं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दैनिक जीवन की अच्छी आदतों का महत्व ।

वास्तु शास्त्र एवं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दैनिक  जीवन की अच्छी आदतों का महत्व । ज्योतिष व वास्तु शास्त्रों के अनुसार निम्न प्रकार की आदते आपके जीवन में अवशय होनी चाहिए। इससे आपका जीवन सुखमय होता है 👉    अगर … Read More

ब्रह्मचर्य

🌷 ब्रह्मचर्य 🌷 कामवासना को उत्तेजित करने वाले खान-पान, दृश्य-श्रव्य एवं श्रृंगारादि का परित्याग कर सतत वीर्य-रक्षा करते हुए ऊर्ध्वरेता होना ब्रह्मचर्य कहलाता है।अष्टविध मैथुन-वासना की दृष्टि से किसी का दर्शन, स्पर्शन, एकान्त-सेवन, भाषण, विषय-कथा, परस्पर क्रीड़ा, विषय का ध्यान … Read More

गाय का महत्व चिकित्सा विज्ञान के अनुसार।

* गाय का महत्व चिकित्सा विज्ञान के अनुसार * गाय की पूरी शारीरिक संरचना विज्ञान पर आधारित है। गाय से उत्सर्जित एक-एक पदार्थ में ब्रह्म उर्जा , विष्णु उर्जा और शिव उर्जा भरी हुई है। गाय को आप कितने ही … Read More

गोवर्धन परिक्रमा

गोवर्धन परिक्रमा  गोवेर्धन पर्वत की पारिक्रमा क्यों करनी चाहिए ? श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को भगवान का रूप बताया है और उसी की पूजा करने के लिए सभी को प्रेरित किया था। आज भी गोवर्धन पर्वत चमत्कारी है और वहां … Read More

प्राणायाम एवं योग में बंध का महत्त्व |

प्राणायाम एवं योग में बंध का महत्त्व | योग में एक रहस्य है जो ऊर्जा को रोक कर रखता है |ऊर्जा यानी प्राणमय कोष होता है , ऊर्जा का वास शरीर की पांच परतों में से तीसरी परत में होता … Read More

प्राणायाम क्या है  एवं प्राणायाम  तथा प्राण का क्या सम्बन्ध है ?

प्राणायाम क्या है  एवं प्राणायाम  तथा प्राण का क्या सम्बन्ध है ? प्राणायाम करने वाली एक नासिका में दो छिद्रों का महत्त्व एवं प्राणायाम तथा प्राण का सम्बन्ध  | प्राण यानि शरीर को चलाने वाली शक्ति | प्राण यानि फोर्स … Read More

ज्योतिष और आपकी दिनचर्या।

🌷 ज्योतिष और आपकी दिनचर्या 🌷 (I) भगवान कुबेर की कृपा पाने के लिए सोते समय सिर ऐसे रखें कि उठते समय आपका मुँह उत्तर या पूर्व दिशा की ओर हो (२) रोज अपने इष्ट देव की पूजा करे। समय … Read More